25-07-2024 • संजय सिंह सुप्रीम कोर्ट से मिली ज़मानत    • पतंजलि और बाबा रामदेव को सुप्रीम कोर्ट से पड़ी फटकार    • 21 अभ्यर्थियों द्वारा 27 नाम निर्देशन पत्र दाखिल    • Our Website is Under Renovation.    


06 Apr, 2024

श्री माथुर चतुर्वेदी महापरिषद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक प्रथम दिवस

श्री माथुर चतुर्वेदी मा परिषद का दो दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन आज दिल्ली में आरंभ हुआ. देशभर से लगभग 20 राज्यों से पदाधिकारी यहां आए हुए हैं।

श्री माथुर चतुर्वेदी मा परिषद का दो दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन आज दिल्ली में आरंभ हुआ. देशभर से पधारे हुए राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य जो लगभग 70 से 80 की संख्या में है यहां पधारे लगभग 20 राज्यों से पदाधिकारी यहां आए हुए हैं।

कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठतम सदस्य संरक्षक श्री भूपेंद्र नाथ चतुर्वेदी भूतपूर्व आईजी बीएसएफ ने की कार्यक्रम का संचालन राष्ट्रीय महासचिव प्रणव चतुर्वेदी ने किया कार्यक्रम के आरंभ में राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष प्रदेश चतुर्वेदी जी ने स्वस्ति वाचन से किया इसके पश्चात कार्यक्रम में उपस्थित समस्त पदाधिकारी ने अपना परिचय दिया इसके पश्चात महामंत्री प्रणव चतुर्वेदी जी ने पिछले 1 वर्ष का विस्तृत विवरण जारी किया इसके पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज चतुर्वेदी जी ने पूर्व की ऐडहाक कार्यकारिणी को भंग करने की घोषणा की अब नई कार्यकारिणी की घोषणा दिनांक 7 तारीख को की जाएगी।

राष्ट्रीय अध्यक्ष राष्ट्रीय अध्यक्ष ने एडवोकेट वी एन चतुर्वेदी उनके पुत्र एडवोकेट अभिषेक चतुर्वेदी और डॉक्टर हीरालाल पांडे जी जिन्होंने संस्था के पंजीयन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई सभी ने एक साथ खड़े होकर करतल ध्वनि से उनका अभिवादन किया ज्ञात हो श्री माथुर चतुर्वेदी महापरिषद समाज के देश के छठवें राष्ट्रीय संगठन के रूप में रजिस्टर्ड हुई है राष्ट्रीय संरक्षक श्री बृजमोहन चतुर्वेदी जी ने अपने उद्बोधन में बताया की 20 से 24 राष्ट्रों में और 400 से अधिक शहरों में चतुर्वेदी बांधव हैं जो संस्था की ओर देख रहे हैं कि अब समाज के हित की कुछ अच्छी गतिविधियां आरंभ हो।

जनगणना के कार्य को सुचारू रूप से संचालित कर रहे मुंबई से पधारे चार्टर्ड अकाउंटेंट सी पी चतुर्वेदी जी ने अपने उद्बोधन में बताया की जनगणना के कार्य में आशातीत सफलता मिली है आज देश में लगभग 50000 की संख्या तक चतुर्वेदी बांधवों की जानकारी एकत्र की जा चुकी है किसी के साथ उन्होंने बताया की सदस्य संख्या को भी बढ़ाया जाना है सदस्य भी दो तरीके के बनाए जा रहे हैं जो ₹10 देकर सदस्य बनते हैं उन्हें मताधिकार का प्रयोग नहीं होगा जबकि ₹500 देकर आजीवन सदस्य बनने वाले वोटिंग का अधिकार रखेंगे। आज व्हाट्सएप ग्रुप में भी लोग जुड़ रहे हैं और संख्या बढ़ जाने के कारण लगभग तीन से चार ग्रुप कार्य कर रहे हैं वर्चुअल होली के कार्यक्रम में भी लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया जो की राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जुड़े हुए थे पत्रिका का संचालन भी किया जा रहा है उसको भी आगे बढ़ाने की प्रक्रिया चल रही है।

दिनांक 5 अक्टूबर 2022 को श्री माथुर चतुर्वेदी महापरिषद के उद्गम की शुरुआत हुई थी और आज पंजीयन के उपरांत लगभग 1 साल से ऊपर का कार्यकाल महा परिषद का हुआ है जिसमें 20 राज्यों में कार्यकारिणी का गठन किया गया उसके अंतर्गत जिलों में समितियां बनाई गई जिन्होंने अच्छी परफॉर्मेंस दी है सभी जगह पर समाज के अंदर इस संगठन के प्रति रुझान आए हैं और कार्य देखकर लोग इससे जुड़ने के प्रयास कर रहे हैं