Vaagmi
Advertisement
छत्तीसगढ़
१९७० में जयदेव बघेल , सुखचंद घढ़वा और अपने पिता सिरमन बघेल के साथ पहली बार दिल्ली आये। यहाँ उनकी पहचान कॉटेज़ एम्पोरियम की तत्कालीन संचालिका जसलीन धमीजा से हुई और उन्होंने बस्तर के इन तीनों धातु शिल्पियों की पहचान अपनी चेयरपर्सन पुपुल जयकर से करवाई।
मुख्यमंत्री के अनुमोदन के बाद अधिकतम 20 लाख रूपए तक के इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी। छत्तीसगढ़ ऐसा पहला राज्य है जो इतनी बड़ी राशि अपने राज्य के नागरिकों के इलाज के लिए प्रदान कर रहा है।
वर्ष 2013 में हुए विधानसभा चुनाव के बाद मरवाही विधानसभा क्षेत्र से भाजपा की प्रत्याशी रही समीरा पैकरा ने जोगी की जाति और उनके जन्म स्थान के संबंध में उच्च न्यायालय में चुनाव याचिका दायर की थी।
छानबीन समिति ने छत्तीसगढ़ अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग (सामाजिक प्रास्थिति के प्रमाणीकरण का विनियमन) नियम 2013 के नियम 23 (3) एवं 24 (1) में विहित प्रावधानों के अनुसार कार्यवाही संपादित करने के लिए बिलासपुर जिले के कलेक्टर को प्राधिकृत किया है।
पुलिस अधिकारी ने बताया कि मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) अधिनियम, 2019 की धाराओं के तहत संभवत: छत्तीसगढ़ में यह पहली गिरफ्तारी है। पिछले महीने संसद के दोनों सदनों में तीन तलाक विधेयक को पारित किया गया था
विधानसभा अध्यक्ष चरण दास महंत ने आज मानसून सत्र समाप्त होने की घोषणा की। महंत ने कहा कि पंचम विधानसभा के द्वितीय सत्र का आज अंतिम कार्यदिवस है।
बघेल ने कहा कि इस अवधि में सरकार ने अवैध खनन के मामलों में 1,32,89,623 रुपए जुर्माना वसूला है। जबकि अवैध परिवहन के मामलों में 4,54,66,236 रुपए जुर्माना वसूल किया है।
राव की पत्नी दुर्गा ने इससे पहले समाचार चैनलों को बताया कि करीब 10-15 अज्ञात लोग उनके पति को घर से खींचकर बाहर ले गए। उन लोगों के हाथों में हथियार और लाठियां थी।
स्तर के लोगों ने विधानसभा और लोक सभा चुनावों में बड़े पैमाने पर कांग्रेस का समर्थन किया है। बस्तर क्षेत्र के रहने वाले मरकाम ने दोनों चुनावों विधानसभा और लोकसभा के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं को फिर से सक्रिय किया।
पश्चिमी दिल्ली से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा ने राजधानी ‘मस्जिदों के बढ़ने’ पर सवाल उठाते हुए उपराज्यपाल अनिल बैजल से इस मामले पर गंभीरता से विचार करने की मांग की है ।
शनिवार शाम बड़ी संख्या में हथियारबंद नक्सली रोड पर पहुंचे और आने-जाने वाली गाड़ियों को रोकने लगे। गाड़ियों में से नक्सलियों ने लोगों बाहर निकाला और तलाशी ली तथा पूछताछ भी की। जगरगुंडा से दोरनापाल लौट रही बिजली विभाग की पिकअप को भी नक्सलियों ने रोका, गाड़ी में 5 कर्मचारी थे। सभी को नक्सली चिमली गांव तक ले गए और पूछताछ के बाद पिकअप को कब्जे में लिया फिर कर्मचारियों को भगा दिया।
निर्वाचन कार्यालय ने जिले में 71. 37 फीसदी मतदान का आंकड़ा जारी किया। शत-प्रतिशत मतदान का नारा झूठा निकला। वह इसलिए क्योंकि 2013 में 73.76 फीसदी था जो 2.39 फीसदी कम हो गया। इससे पहले 28 सितंबर को वोट देने के लिए शपथ पत्र भरने का कार्यक्रम इस मकसद से रखा गया ताकि गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बने।
जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की और नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब दिया। नक्सली पेड़ों की ओट लेकर फरार हो गए। मौके से नक्सल साहित्य और दैनिक उपयोग की सामग्री बरामद हुई है।एडिशनल एसपी वायपी सिंह का कहना है कि फोर्स के जवान अभी भी जंगल में ही हैं। एहतियात के तौर पर इलाके में सर्चिंग तेज कर दी गई है।
अध्यक्ष ने बताया कि इस सत्र में स्थगन की कुल 232 सूचनाएं प्राप्त हुई, जिसमें से एक विषय से संबंधित 32 सूचनाओं को सदन में पढ़ने एवं शासन का वक्तव्य सुनने के पश्चात् अग्राह्य किया गया तथा 30 सूचनाओं को ध्यानाकर्षण के रूप में परिवर्तित किया गया।
कांग्रेस ​के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि राज्य में किसानों को राजस्व पुस्तक परिपत्र (आरबीसी) 6-4 के तहत मुआवजा देने की बात कही जा रही है, लेकिन यह पर्याप्त नहीं है। फसलों का वास्तविक नुकसान का आकलन कर किसानों को मुआवजा दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस विषय पर स्थगन प्रस्ताव पर चर्चा कराई जानी चाहिए।
धार्मिक न्यास तथा धर्मस्व मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल और सचिव श्री सोनमणि बोरा ने गरियाबंद जिला प्रशासन और राजिम की स्थानीय जनता के सहयोग से यह आयोजन किया।
कटोरा तालाब में छत्तीसगढ़ की संस्कृति और समृद्धि के द्योतक प्रदेश के 36गढ़ों और 9 महत्वपूर्ण नदियों की झलक भी दिखायी दे रही है। यहां उद्यान में बनाए गए 18 मीटर व्यास के बड़े कटोरे में 36 कटोरे बनाए गए हैं,
डॉ. सिंह ने कहा कि प्रदेश में बेहतर कनेक्टिविटी के लिए लगभग 35 हजार करोड़ के सड़क निर्माण के कार्य प्रगति पर हैं। प्रदेश की हर ग्राम पंचायत को इंटरनेट कनेक्टिविटी से जोड़ा जा रहा है। भारत नेट और बस्तर नेट परियोजना के अंतर्गत ऑप्टिकल केबल बिछाए जा रहे हैं।
छत्तीसगढ़ शासन की ओर से हिंसक वन्यप्राणियों द्वारा जनहानि होने पर चार लाख रूपए, स्थायी रूप से अपंग होने पर दो लाख रूपए, जनघायल होने पर 59 हजार एक सौ रूपए की अधिकतम सीमा तक तथा पशु हानि पर 30 हजार रूपए की अधिकतम सहायता राशि दी जाती है।
अधिकारी ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने के बाद वन अमला तत्काल गांव पहुंच गया तथा मृतकों के परिजनों को 25-25 हजार रुपए की आर्थिक सहायता राशी दी गई। इस वर्ष धरमजयगढ़ वन मण्डल में हाथियों के हमलों से नौ लोगों की मौत हुई है।
गिरफ्तार नक्सली की लम्बे समय से पुलिस को तलाश थी। नक्सली ​के खिलाफ हत्या, हत्या का प्रयास, सड़क काटने, शासकीय सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाने समेत कई मामले दर्ज हैं।
आरक्षक भीमाराम कुंजाम आज नक्सलियों की जानकारी लेने के लिए हितवार गांव गए थे। जब वह गांव में थे तब पांच माओवादियों ने ग्रामीणों की वेशभूषा में कुंजाम पर हमला कर दिया।
अधिकारियों ने बताया कि दोनों घटना में वन विभाग ने मृतकों के परिजनों को 25-25 हजार रूपए तात्कालिक सहायता राशि प्रदान की है। शेष राशि नियमानुसार बाद में दी जाएगी।
डीआईजी के मुताबिक समर्पण करने वाले बर्मन कुंजम 21 और बुधराम सोढी 21 के सिर पर एक-एक लाख रुपये का इनाम था। एक अन्य कैडर हिंगा 24 की सूचना देने वाले के लिए तीन लाख रुपये के इनाम की घोषणा की गयी थी।
वर्मा ने बताया कि इस सत्र के लिए अभी तक नौ विधेयकों की सूचना प्राप्त हुई है। वहीं इस सत्र में अनुपूरक अनुमान प्रस्तुत किया जाएगा। साथ ही अन्य शासकीय कार्य संपादित किए जाएंगे।